RO-Water_BNR

चिलचिलाती धुप की गर्मी में कुछ मिले या ना मिले पर शरीर को भरपूर मात्रा में पानी जरूर मिलना चाहिए और अगर पानी RO का हो तो सोने पे सुहागा. परंतु क्या वास्तव में हम RO (रिवर्स ओसमोसिस) को पूरी तरह शुद्ध पानी मान सकते हैं, जवाब आता है बिल्कुल नहीं और यह जवाब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की तरफ से दिया जा चूका है.

Ro water is very harmfull for our body WHO report About RO water

R.O. का लगातार सेवन बनेगा मौत को गले लगाना :-

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि इसके लगातार सेवन से हृदय संबंधी विकार, थकान, कमजोरी, मांसपेशियों में ऐंठन, सिरदर्द आदि तरह के घातक दुष्प्रभाव पाए गए हैं, यह कई शोधों के बाद पता चला है कि इसकी वजह से पानी से कैल्शियम, मैग्नीशियम की मात्रा पूरी तरह नष्ट हो जाते हैं जो कि शारीरिक विकास और शारीर की सुचर रूप से चलाने के लिए अत्यंत आवश्यक हैं.

Ro water is very harmfull for our body WHO report About RO water1

” विनय भाई हमेशा सच कहते थे कि RO (रिवर्स ओसमोसिस) पानी की क्वालिटी नहीं मेन्टेन करता है बल्कि आपके जल के भीतर मौजूद मिनिरल को कम कर देता है.”
आपके घर पर जो भी 10वी पास सर्विस इंजिनियर आते हैं, उनसे पूंछिये कि कितने टीडीएस का जल पीना चाहिए तो बोलेंगे 50 टीडीएस का. कई बंद बोतलों का पानी भी चेक किया गया लेकिन किसी में 20 टीडीएस तक का पानी नहीं मिला.
वैज्ञानिकों के अनुसार मानव शरीर 500 टीडीएस तक का पानी सहन करने की छमता रखता है परंतु RO में 18 से 25 टीडीएस तक पानी की शुद्धता होती है जोकि शारीर के लिए बहुत ही घातक हैं.

Ro water is very harmfull for our body WHO report About RO water3

bestnewsreaderHealth
चिलचिलाती धुप की गर्मी में कुछ मिले या ना मिले पर शरीर को भरपूर मात्रा में पानी जरूर मिलना चाहिए और अगर पानी RO का हो तो सोने पे सुहागा. परंतु क्या वास्तव में हम RO (रिवर्स ओसमोसिस) को पूरी तरह शुद्ध पानी मान सकते हैं, जवाब आता है...