नितिन गडकरी के साथ पीएम मोदी
मोदी सरकार इस हफ्ते कैबिनेट फेरबदल कर सकती है. सूत्रों की मानें तो सुरेश प्रभु के इस्तीफे के बाद नितिन गडकरी को रेल मंत्रालय का जिम्मा दिया जा सकता है. बता दें कि मोदी सरकार में ऐसे कई मंत्री हैं जिनके पास एक से ज्यादा मंत्रालय है. वहीं, इस फेरबदल को 2019 और आने वाले विधानसभा चुनावों से भी जोड़ कर देखा जा रहा है.

सरकार के इस कदम से जुड़ी 13 बड़ी बातें हम आपको बता रहे हैं:

– सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री 3 सितम्बर को चीन जा रहे हैं, इसके पहले ही मोदी कैबिनेट में फेरबदल की संभावना है.

– हाल ही में हुए हादसों के बाद रेलमंत्री सुरेश प्रभु से रेल मंत्रालय वापस लिया जा सकता है.

– सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी के बेहतर काम को देखते हुए उन्हें रेल मंत्रालय का जिम्मा सौंपा जा सकता है.

-रेल मंत्रालय की जगह पीएम मोदी बना सकते हैं सुपर ट्रांसपोर्ट मंत्रालय, भूतल परिवहन भी होगा शामिल

– इसके अलावा रक्षा मंत्री की जगह लम्बे समय से खाली है. चीन से बढ़ते विवाद को देखते हुए यह जिम्मा किसी वरिष्ठ नेता को दिया जा सकता है.

– तमिलनाडु में ताजा राजनीतिक उथल-पुथल के बाद एआईडीएम के नेताओं को भी मंत्री पद मिल सकता है.

– 12 मंत्रियों के विभाग में भी फेर बदल हो सकते हैं. अभी कई मंत्रियों के पास एक से ज्यादा विभाग हैं.

– हाल ही में मुख्यमंत्रियों की दिल्ली में बैठक हुई है. यदि किसी मुख्यमंत्री को दिल्ली बुलाकर कैबिनेट में जगह दी जाए तो हैरानी नहीं होनी चाहिए.

– 2019 में विधानसभा और लोकसभा के चुनाव हैं. जिसे देखते हुए भी फेरबदल किया जायेगा.

– तमिलनाडु और बिहार में राज्यपाल का पद खाली है. भाजपा के दो वरिष्ठ नेताओं को राज्यपाल बनाया जा सकता है.

– दो मंत्रालयों को जोड़कर प्रधानमंत्री सुपर मिनिस्ट्री कंसेप्ट को भी ला सकते हैं.

– बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी 24 को दिल्ली आ रहे हैं. कयास यह भी लगाईं जा रही है कि जेडीयू के दो नेता कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं.

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और आरएसएस के वरिष्ठ नेता नए मंत्रियों को चुन सकते हैं.

bestnewsreaderPolitical NewsPolitical News
मोदी सरकार इस हफ्ते कैबिनेट फेरबदल कर सकती है. सूत्रों की मानें तो सुरेश प्रभु के इस्तीफे के बाद नितिन गडकरी को रेल मंत्रालय का जिम्मा दिया जा सकता है. बता दें कि मोदी सरकार में ऐसे कई मंत्री हैं जिनके पास एक से ज्यादा मंत्रालय है. वहीं, इस...