napunsak-s_BNR

इंडोनेशिया ने नया नियम पास किया है जिसमे बाल यौन शोषण के दोषियों को नपुंसक बनाने का फैसला लिया गया है. देश के बाल सुरक्षा आयोग ने गुरुवार को यह जानकारी सार्वजानिक जारी की. और इस संबंध में राष्ट्रपति जोको विडोडो ने एक नियामक पास कर दिया है.

इस नियामक में बच्चों का यौन शोषण करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने के लिए यह नियम पास किया हैं, इसमें यौन गतिविधियों के लिए दोषी पाये जाने पर उन ब्यक्ति को गतिशील हॉर्मोन को घटाने के लिए इंजेक्शन लगाना शामिल है. इंडोनेशिया में हाल के दिनों में बाल यौन अपराधों के मामले बहुत ज्यादा बढ़े हैं.

एशियाई देशों ने भी उठाया इस तरह का कदम
मलेशिया और भारत ने भी हाल में बाल यौन अपराधों में शामिल अपराधियों और दुष्कर्मियों के लिए इसी तरह के कड़े कदम उठाने के लिए कानून बना चुके है. दक्षिण कोरिया पहला एशियाई देश है, जिसने 2011 में ही इस तरह का कानून पास किया था.

भारत में लागू है पॉस्को कानून
भारत ने भी हाल ही में बाल यौन शोषण के अपराधियों पर पॉस्को कानून के तहत केस चलाने का कानून पारित किया है. इस कानून को दिल्ली में हुए निर्भया रेपकांड के बाद पारित करने का फैसला लिया है.

http://www.bestnewsreader.com/wp-content/uploads/2016/02/napunsak-s_BNR.jpghttp://www.bestnewsreader.com/wp-content/uploads/2016/02/napunsak-s_BNR-300x300.jpgbestnewsreaderWorld News
इंडोनेशिया ने नया नियम पास किया है जिसमे बाल यौन शोषण के दोषियों को नपुंसक बनाने का फैसला लिया गया है. देश के बाल सुरक्षा आयोग ने गुरुवार को यह जानकारी सार्वजानिक जारी की. और इस संबंध में राष्ट्रपति जोको विडोडो ने एक नियामक पास कर दिया है. इस नियामक...