Garib Rath trains replace with Humsafar Express
सरकार द्वारा गरीब रथ ट्रेन का बंद किया जाना, आम लोगो के लिए बहुत दुखद फैसला लिया जा रहा है.
जो लोग भारतीय रेल के गरीब रथ से चलते हैं, उनकी ज़िंदगी में बहुत जल्द ऐसा ही ‘कैंटीन मोमेंट’ आने वाला है. वो चाहें तो उसे ‘गरीब रथ मोमेंट’ कह सकते हैं. खबर ये है कि भारतीय रेल 2005 से शुरू हुईं गरीब रथ गाड़ियां बंद करने जा रहा है. वो गरीब रथ, जिन्हें लॉन्च करते हुए कहा गया था कि इससे गरीब लोग कम दाम में लंबी दूरी का सफर एसी डब्बों में करेंगे. आराम से, ठंडी-ठंडी हवा खाते हुए. कुल 29 गरीब रथ गाड़ियां शुरू की गई थीं. लेकिन अब ये सब बंद होंगी और उनकी जगह चलेंगी हमसफर एक्सप्रेस.

‘किराया मॉमेंट’

हमसफर’ गाड़ियां नाम के हिसाब से ‘गरीब रथ’ जितनी प्रॉमिसिंग लग सकती हैं. यात्रियों का दिल बस इस बात से दुखेगा उन्हें बढ़ा हुआ किराया देना पड़ेगा. और वो भी थोड़ा-बहुत नहीं. ‘हमसफर’ भारतीय रेल की प्रीमियम सेवा है. तो इसका किराया आम एसी 3 टीयर के टिकट से 1.15 फीसद ज़्यादा होता है. माने जो टिकट आम ट्रेन में 100 का था, वो हमसफर में 115 रुपए का मिलता है. फिर हमसफर गाड़ियों में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम होता है. माने सामान्य दाम पर हमसफर के सिर्फ 50 फीसदी सीट मिलती हैं. 50 फीसदी सीट बुक होने के बाद हर 10 फीसदी बुकिंग पर टिकट 10 फीसदी महंगा हो जाता है. गरीब रथ का टिकट आम एसी 3 टीयर किराए से कम रहता था. तो गरीब रथ की तुलना में हमसफर का टिकट बहुत महंगा होगा.

कितना बढ़ेगा किराया?

सबसे पहले चेन्नई-हज़रत निज़ामुद्दीन गरीब रथ बंद की जाएगी. 29 सितंबर, 2018 से. इस रूट पर आम गाड़ियों में पूरे सफर का एसी 3 टीयर किराया 2050 रुपए से शुरू होता है. गरीब रथ का टिकट महज़ 1380 रुपए का होता था. तब भी ये ट्रेन इस रूट पर राजधानी के बाद सबसे तेज़ गाड़ी थी. गरीब रथ की जगह आने वाली चेन्नई-हज़रत निज़ामुद्दीन हमसफर का किराया गरीब रथ की तुलना में 1000 से 2000 तक ज़्यादा होगा.

bestnewsreaderRailway
सरकार द्वारा गरीब रथ ट्रेन का बंद किया जाना, आम लोगो के लिए बहुत दुखद फैसला लिया जा रहा है. जो लोग भारतीय रेल के गरीब रथ से चलते हैं, उनकी ज़िंदगी में बहुत जल्द ऐसा ही ‘कैंटीन मोमेंट’ आने वाला है. वो चाहें तो उसे ‘गरीब रथ मोमेंट’ कह...