baba ramdev

योग गुरु बाबा रामदेव के 24 वें संन्यास दिवस और रामनवमी पर पतंजलि योगपीठ ने एक और नया इतिहास रच दिया। हरकी पैड़ी पर आयोजित भव्य कार्यक्रम में अष्टाध्यायी, व्याकरण, वेद, वेदांग, उपनिषद में दीक्षित 92 विद्वान व  विदुषी संन्यासियों को राष्ट्र को समर्पित किया।

इनमें 51 विद्वान और 41 विदुषी हैं। इस अवसर पर बाबा रामदेव ने कहा कि भगवान राम की संन्यास मर्यादा, वेद, गुरु व शास्त्रों की मर्यादा में रहते हुए यह संन्यासी एक बहुत बड़े संकल्प के लिए प्रतिबद्ध हो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इन संन्यासियों के रूप में हम अपने ऋषियों के उत्तराधिकारियों को भारतीय संस्कृति और परंपरा के प्रचार-प्रसार के लिए समर्पित कर रहे हैं। बाबा रामदेव ने कहा कि हमारा लक्ष्य 2050 तक 1000 संन्यासियों को दीक्षित करना है। ये संन्यासी हमारे पूर्वजों, ऋषि-मुनियों की पताका पूरे विश्व में फहराएंगे।

bestnewsreaderNational News
योग गुरु बाबा रामदेव के 24 वें संन्यास दिवस और रामनवमी पर पतंजलि योगपीठ ने एक और नया इतिहास रच दिया। हरकी पैड़ी पर आयोजित भव्य कार्यक्रम में अष्टाध्यायी, व्याकरण, वेद, वेदांग, उपनिषद में दीक्षित 92 विद्वान व  विदुषी संन्यासियों को राष्ट्र को समर्पित किया। इनमें 51 विद्वान और 41...